BEST LOVE SAD STORY WITH MORAL IN HINDI AND ENGLISH




अगर यह कहानी पढ़ी तो… आप रो दोगे ………..

इस कहानी में दी गई सारे नाम काल्पनिक है और यह कहानी देश में हुई घटनाओं को देखते , पढ़ते और उसके बारे में सुनकर बनाई गई है |

यह इस लिए बनाई गई है ताकि कोई और इस तरह के घटना का शिकार ना हो और अपनी समझदारी से अपनी और अपने परिवार की इज्ज़त की रक्षा कर सके ………

यह कहानी सहर से दूर एक गाव एक कस्बे का है जहाँ एक गरीब परिवार रहता था | जो अपने आप में खुश रहते थे लेकिन एक दिन उनकी ख़ुशी पर किसी की बुरी नजर पड गई | जो उनकी खुशियों को रौंद कर रख दी , चलिए जानते है उनके साथ क्या हुआ जो उनकी ज़िन्दगी एक ही बार में अंधेरों में बदल गई ???????????

यह जिस घर की कहानी है उस घर में एक लड़की रहती थी, जिसका नाम रीति था | जिसे उसके माँ-बाप उसे बड़ी ही मुश्किल से पढ़ते थे जो खुद दूसरों के यहाँ काम कर अपनी आमदनी से रीति को पढ़ाते थे | रीति के पिता गाव के पास के एक दुकान में मजदूरी करते थे और माँ दूसरों के घरों में चौका – बरतन कराती थी | रीति अपने माँ – बाप के इकलौती बेटी थी , इस लिए उसे उन्होंने बड़े लाड़ – प्यार से पाला था | रीति के माँ – बाप चाहते थे की ओ पढ़ – लिख कर एक अच्छी ज़िन्दगी जिए जो, उन्हें नहीं मिली ओ चाहते थे की उनकी बेटी बड़ी आदमी बन कर उनकी गरीबी दूर करें , जिससे उन लोगों को गरीबी में दिन ना गुजरना पड़े …….

जब रीति ने अपने गाव के स्कूल से 10वी का परीक्षा पास किया और अपने गाव कि वह topper बनी जिसे देखा कर उसके माँ – बाप फूले नहीं समां रहे थे | रीति को topper देख वहां के लोगों ने रीति के माँ – बाप से कहा की उसे और आगे पढावों उसे शहर के collage में नामांकन करा दें जिसे ओ और अच्छी तरह से आगे पढ़ सके और अपनी आगे के जीवन की ओर बढ़ सके |

रीति की माँ – बाप ने किसी तरह से पैसे का जुगाड़ करके रीति का नामांकन गाव से दूर शहर में करवा दिया | जो collage में नामांकन हुआ था ओ गाव से 8 कि. मी.  था , रीति का नामांकन इंटर में करा दिया गया और वह collage जाने लगी | वह अपने पापा के पुरानी साइकिल को ले कर जाती थी , इसी तरह से उसकी ज़िन्दगी आगे बढ़ने लगी और ओ अपने पढाई में व्यस्त हो गई |

लेकिन कहते हैं ना किसी की किस्मत ख़राब हो ना तो चाहे वो ऊंट पर रहे उसे कुता काट ही लेता है | इसी प्रकार रीति को भी एक कुते ने कटा लिए जिसका नाम रौनी था |

एक दिन जब रीति अपने collage जा रही थी तो रौनी रास्ते में ही खड़ा था | जो अकसर रीति collage जाती थी तो वह खड़ा हो कर रीति को देखता रहता था | एक दिन रीति अपने collage से पढ़ कर निकली तो रौनी उसके सामने बाइक लेकर आ गया और कहा की आप बुरा ना मानो तो मैं आपसे कुछ कहना चाहता हूँ |

रीति अकसर collage जाते समय रौनी को देखती थी , पहले तो रीति को ये सब अच्छा नहीं लग रहा था | लेकिन धीरे – धीरे रौनी रीति को पसंद आने लगा था | जिसके कारण जब रौनी रीति से अनुमति मांगी तो रीति ना नहीं कर पाई और अपनी सिर हिलाकर हाँ कर दी |

रौनी ने बिना लेट किए अपने जेब से एक गुलाब की कलि निकाल कर रीति के हाथ में रख दी और रीति को बोला की मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ | उठते – बैठते , सोते – जागते हर समय बस तुम्हारे बारे में सोचता रहता हूँ , मुझे कुछ भी अच्छा नहीं लगता है……….

रौनी और भी कुछ कहना चाहता था लेकिन रीति उसके होंठों पर अपना हाथ रख कर अपने प्यार का इकरार कर दिया और इस तरह उन दोनों के प्यार की शुरूआत हो गई लेकिन रीति को कहाँ पता था की ओ जिस इनसान को अपने ज़िन्दगी में जगह दे रही है ओ किस मकसद से रीति के करीब जाने की कोशिश कर रहा था |

धीरे – धीरे उन दोनों में लम्बे चौड़े बातों का शील – सिला चालू हो गया | रौनी रोज कोई ना कोई गिफ्ट लता और रीति से जीने मरने की कसमें खाता | उसकी बाते सुन कर रीति उसकी दीवानी हो जाती और ख्वाबों की दुनिया में खो जाती |

इसी तरह रौनी किसी ना किसी बहाने से रीति का भरोसा जीतता गया  और वह एक दिन अपने काम का अंजाम दिया जो रीति को पता भी नहीं था की उसकी ज़िन्दगी किस तरह बर्बाद होने वाली है | उस दिन रौनी अपनी बाइक लेकर आया और रीति को कहा चलो तुम्हें कहीं घुमा कर लता हूँ , लेकिन रीति ने उसे मना कर दिया और कहा नहीं अगर मैं घर नहीं गई तो माँ – पापा नाराज होंगे ……..

लेकिन रौनी बड़ा ही शातिर था वह अपना इमोशनल ब्लैक मेल चालू कर दिया और रीति को कहा की बस तुम मुझसे इतना ही प्यार कराती हो की मेरे साथ जाने को मन कर रही हो ….. यह बात सुन कर रीति बोली नहीं – नहीं ऐसा बात नहीं है तभी रौनी ने कहा तब चलो मेरे साथ |

रीति ना चाह कर भी रौनी के साथ जाने को मान गई :- रौनी रीति को शहर से दूर ले गया और एक नदी के किनारे घास पर बैठ कर बाते करने लगे लेकिन रौनी का मंशा कुछ और ही था | लेकिन रीति तो उसके प्यार में अंधी हो चुकी थी जो रौनी के गलत मंशे को नहीं समझ पाई |

जब रौनी के रीति को kiss किया तो रीति ने उसे ना रोक कर उसका साथ देने लगी | दोनों एक दूसरे के प्यार में ऐसे खोये की दोनों एक जिस्म एक जान हो गए………

लेकिन ना जाने वहां पर चार लड़के कहा से आ गए ,उन्हें देख कर रीति हक्के – बक्के रह गई और जल्द से उठ कर अपने कपडे सही करने लगी | यह देख कर एक लड़का रीति का हाथ पकड़ कर बोलता है की इतनी जल्दी क्या है रानी , हम भी तो तुम्हारे दीवाने है | थोडा हमारा भी तो मनोरंजन कर दो ……

लड़की ने अपने प्रेमी से मदद मांगी , लेकिन वह रीति की मदद नहीं की और वह ये सब देख कर हंसता रहा और बोला की ये मेरे दोस्त है तो तुम को किस से बचाऊँ   हाँ .. हाँ …हाँ …...

रौनी की यह बात सुन कर रीति का ह्रदय धक्का से रह गया , वह सोची यानी इसकी सोची समझी चाल थी मुझे फ़साने की ????

आगे रीति कुछ सोच ही नहीं पाई क्योंकि उन चारों लड़कों ने रीति के ऊपर भेड़ियों की तरह टूट पड़े और अपनी हवास की आग बुझाते रहे | रीति दद के लिए गोहार लगाती रही लेकिन रौनी ने मदद नहीं की और उसके दोस्त रीति को नोचते –घसीटते रहे |

लगभग 1 घंटे के बाद रीति को होश आया तो उसने खुद को नंग – धडंग पाया | वो चारो लड़के और रौनी वहां से जा चुके थे , रीति की आँखों के सामने अँधेरा छा रहा था ओ उसकी दुनिया अंधेरों से भर चुकी थी ओ जिस लड़के पर भरोसा की थी ओ धोखा दे चूका था | ओ सोचती रही की क्यों उसने रौनी से प्यार किया उसके बातों पर एतबार किया , मैं क्यों उसके साथ यहाँ आई |

अब मैं क्या मुंह लेकर अपने माँ पापा के सामने जाऊंगी और उन्हें क्या बताऊंगी , मेरा ये हाल देखकर वो जीते जी मर जायेंगे ……..

रीति का गला तेजी से सुख रहा था ओ जैसे तैसे नदी के किनारे पहुंची और पानी पी | ओ फिर उस बेवफा रौनी और अपने मां – बाप के बारे में सोचने लगी और वह पानी में छलांग लगा दी |

अगले ही पल ओ नदी में डूबने – उतरने लगी , लेकिन ना ही ओ अपनी जान बचने के लिए किसी को पुकार रही थी और ना ही बचने के लिए संघर्ष कर रही थी | क्योंकि उसे जीने की आस नहीं थी ओ सोच रही थी की ओ जी कर क्या करेगी अगर उसके माँ – बाप उसे इस हालत में देखेंगे तो क्या सोचेंगे ???

यही सभी बाते सोचते ओ बहती चली गयी और कुछ दूर जा कर ओ पानी में समां गयी |

जब उसकी खबर उसके गाव में उसके माँ – बाप को पहुंची तो वह सुन ही रह गये की ये क्या हो गया उनकी जवान बेटी को जो अब इस दुनिया में नहीं है |  रीति के ऊपर जो उन्होंने खर्चे किए थे और लोगों से उधार लिए थे ओ कैसे चुकाएंगे क्योंकि रीति तो अब जा चुकी है |

रीतिके माँ – बाप ये सोच कर परेशान हुए जा रहे थे और उन्होंने खुद को आग लगा लिये ताकि कर्जदार उनको परेशान ना करें …………………….

कहानी कि नैतिकता ( moral of story )

दोस्तों किसी से प्यार करना , किसी पर एतबार करना बुरा नहीं है , लेकिन जज्बातों को पहचानने की छमता भी रखिये | किसी को अपना तन – मन सौंपने से पहले उसके परिणामों के बारे में सोच लीजिये | नहीं तो आप भी धोखा खा सकते हो , आप भी ठगे जा सकते हो |

इस कहानी में प्यार बिना सोच समझ कर करना रीति को और उसके परिवार को कितना भारी पड़ा जो उसकी पूरी परिवार को मार डाला …..

दोस्तों आप सभी से निवेदन है की आप किसी की ज़िन्दगी और उसके इज्जत से खिलवाड़ ना करें |

सभी की ज़िंदगी अनमोल होती है | तो plz किसी के इज्जत से ना खेले | किसी की इज्जत चले जाने से उसे ही नहीं उसके परिवार वालो को भी नुकसान होता है | तो plz …plz……plz…. ऐसा ना करें



महिलाओं को इज्जत दे और उनका हक़ दे |

आपको यह कहानी कैसी लगी , हमें जरूर बताए ….

और साथ ही साथ share करके अपने दोस्तों को जरूर बताए ….

हो सकता है की आपके एक share से किसी की इज्जत और उसका परिवार बच जाए और उसकी ज़िन्दगी स्वर जाए…….

LIKE & SHARE & FEEDBACK जरूर करें …….

Thank you

 

 

NEXT STORY:- 

 

A HEART TOUCHING BEST SCHOOL LOVE STORY WITH MORAL IN HINDI AND ENGLISH

 

Fake Love & True Love – best fake & true love sad story with moral Hindi and English

 


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

Confused Confused
0
Confused
Sad Sad
4
Sad
FUN FUN
0
FUN
hate hate
1
hate
win win
2
win
SEXY SEXY
5
SEXY
geeky geeky
0
geeky
love love
4
love
lol lol
0
lol
omg omg
3
omg
edk shayari

Hello , This is Shayari sharing website .Where you will find good stories and good poetry and different types of shayari and image and you can read more beautiful content . you can easily share your friends.

One Comment