Women Give Birth And Left Her Child In Hindi Story




Chapter:-

( Women Give Birth And Left Her Child In English Story )

पहली नजर

आज की इस नई पीढ़ी अपने गलतियों से बाज़ नहीं आती | यह कभी – कभी ऐसे – ऐसे काम कर जाते है, की इन पर तरस कम और नफ़रत ज्यादा आता है | आज मैं एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहा हूँ जो निन्दनिये बात है |

[ नोट :- यह कहानी सत्य है, यह कहानी एक असल घटना पर आधारित है | इस कहानी में बताई गई सारी बाते सत्य है, सिवाय नाम, पता, और स्थान  के | ]

यह कहानी सुरु होती है बिहार के एक छोटे गाँव से | यह कहानी 06 – 08 – 19 की सुबह लगभग

6:30 am की है | इस सुबह राकेश नाम का आदमी स्व्चाल्य के लिए बाहर खेत की और गया हुआ था | यह जाते हुए देखता है की कलि मंदीर की ओर एक खेत में से किसी बच्चे की रोने का आवाज आ रहा है | राकेश इधर – उधार देखता है, पर कहीं उसे रोता हुआ बच्चा नजर नहीं आता है | फिर वह गौर से उस आवाज का पीछा करने लगता है और देखता है, की राख के ढेर में एक जन्मे बचे को रखा हुआ है और उसे घास से ढाका हुआ है |

राकेश देखता है की उस बच्चे को लाद के साथ ही उसे कोई छोड़ गया है | राकेश सारा काम छोड़ के उस बच्चे को एक हाथ में और लाद को एक हात में उठा के वह आस – पास खेतों में काम करने वालो के पास ले जाता है और उनसे कहता है की देखिये ना कोई इस बच्चे को यहं खेत में छोड़ गया है | वहां खड़े एक गाव के आदमी ने देखा और कहा की यह तो लड़का है | वहां काम करती ओरतों ने उस बच्चे को देख कर कहा की यह बच्च्चा कितना खुबसुरत है, कौन बेसरम निर्दिई दिल इस बचे को छोड़ कर चली गयी है | वह कैसी माँ होगी जो अपने एक दिन के बच्चे को छोड़ कर गई है |

वहां खड़े गाव के एक और आदमी ने कहा की आप यह बच्चा मुझे दे दो मैं इसे पालूंगा और वह आदमी अपनी लुंगी खोला कर उसमें उस बच्चे को ले लिया और अपनी  पत्नी को बुलाया जो वहाँ पास में काम कर रही थी और कहा की इस बच्चे को घर ले चलते है और इसे हम लोग पलेंगे |



राकेश ने उस बच्चे को उस आदमी को इस लिए दे दिया क्योंकि वह आदमी राकेश के घर के पास रहता है और उस आदमी का कोई लड़का नहीं है | वह सोचा की शायद यह उस बच्चे को अच्छी परवरिश देंगे |

राकेश और वह आदमी और उसकी पत्नी उस बच्चे को लेकर अपने घर आये | राकेश एक अच्चा और पढ़ा लिखा इन्सान है | वह उस आदमी और उस बच्चे का साथ नहीं छोड़ा की सायद लोग उस आदमी से वह बच्चा छीन लेगे | वह हर समय उस बच्चे के साथ खड़ा रहा |

बचे को घर लेकर आये और तब तक गाव में यह खबर फ़ैल चुकी थी की खेत में राख के ढेर में एक बच्चा मिला है | उसे कोई जन्म देकर छोड़ गया  है | सभी लोग उस आदमी के घर पहुच गये उस बच्चे को देखने के लिए | खबर फैलता गया और आस – पास के गाव से भी लोग उस बच्चे को देखने आने लगे | उस गाव की एक औरत ने उस बच्चे को साफ किया और उसे तेल – पाउडर लगा के अच्छे से तैयार किया |

इसी तरह भीड़ बढ रही थी उस बच्चे को पाने के लिए कई लोगे ने तो बोली भी लगा दिया, लेकिन वह आदमी जो बच्चे को पालने के लिए लिया था, उस ने साफ़ मन कर दिया और कहा की यह बच्चा मेरा है इसे किसी और को नहीं दूंगा | इस बात को सुन कर राकेश ने और उस गाव के लोगों ने मिल कर उस आदमी के साथ खड़े हो गये |

कुछ लोगों ने राय दिया की इस बचे को जरूरत के सभी दवाएं और इसका कार्ड बनवा दिया जाए जो इसके लिए अच्छा होगा | वह उस बचे को लेकर मुखिया के पास गये और कार्ड बनवा दिए और उसे ले कर पुलिस में खबर करने चले गये |

लेकिन वहां तो गजब हो गया वहाँ के लोगों को पता चला तो वहाँ भी  बोली चालु हो गए, कोई बोला की 1 लाख देता हूँ, तो किसी ने कहा की 5 लाख देता हूँ | लेकिन गाव के लोगे ने नहीं मना और कहा की इस बच्चे को किसी भी हालत में नहीं देंगे |

लेकिन लोग कहाँ मानने वाले थे | उस बचे को देखने कुछ लेडी आई और देखने के लिए गोद में लय और बोली की इसे सुई दिला कर लती हूँ | लेकिन उस बच्चे को लेकर गाव के कुछ लोग गये थे उनमे से एक औरत सुमी को सक हो गया और उसने ले जाते हुए बचे को उनसे ले लिया और कहा की इसे दूध पिलाना है | आप इसे बाद में ले कर चले जाना | सुमी समझ गई थी की, इस बच्चे को लेकर भागने की फ़िराक में हैं ये औरतें |

उस बचे को सुमी ने छुपा कर जैसे – तैसे वहाँ के लोगे से लेकर अपने गाव भागने लगी | लगभग 4 घंटे भागने के बाद गाव पहुंची और उसने सभी को बताया की पुलिस स्टेशन में क्या हुआ |

उस घर के आगे लोग झुंड में खड़े थे उस बच्चे को देखने के लिए और कुछ तो उसे पाने के लिए बेचैन थे |



07-08-19 की सुबह – सुबह पुलिस आई और कहने लगी की इस बच्चे को दे दीजिये लेकिन गाव के लोगों protace कर पुलिस को उस बच्चे को लेजाने नहीं दिया और कहा की जो भी कारण है आप यहीं से कीजिये नहीं तो ले जाने के बाद आप लोग इसे वापस नहीं लायेंगे |

वह गाव के लोग पहली बार किसी बच्चे के लिए मिल कर लड़ रहे थे उन में आदामी ओरत और बड़े बच्चे भी शामिल थे |

पुलिस कहती रही लेकिन गाव के लोगो ने उस बच्चे को नहीं ले जाने दिया | पुलिस आख़िर में हार मन कर चली गई | लेंकिन कहानी यहीं ख़त्म नहीं हुई आशा ग्रुप के औरतें आई और कहने लगी की इसे इलाज करवाने शहर ले जाना होगा लेकिन वह एक और ने कहा की ठीक है | आप इस बच्चे को ले जाओ लेकिन उससे पहले एक कागच पर लिख के दो की आप इस बच्चे को ले जाने के बाद वापस ले कर यहीं आएँगी | अगर नहीं लाई तो आप पर पुरे गाव की और से केस किया जायेगा | यह बात सुन कर उस आशा ग्रुप के होश उड़ गए और उन्होंने लिख कर देने से इंकार कर दिया और कहने लगी की इस बच्चे को दे दीजिये हम लिख कर नहीं देंगे |

जिस औरत ने उनसे लिखकर prove माँगा था उसने साफ मना कर दिया और कहा की तब तो आप के हाथ में बच्चा नहीं मिलेगा चाहे आप जो कर लीजिये |

आज 9 तारिख हो गया और आज भी लोग उस बच्चे की तलाश में आ रहे है | कुछ लोग उस बच्चे को पाने के लिए कितने बड़े लोगो को घुस तक दे दिया है | उसमें कई सरकारी लोग शामिल है |

यह बच्चा किसके पास रहता है यह तो समय ही बताएगा आगे जो भी जनकारी होगी तो इस पोस्ट में उसे जोड़ दिया जायेगा ताकि आप को पता चल सके |



Chapter:- 2

( Women Give Birth And Left Her Child In English Story )

दूसरी नजर

हर आईने की किस्मत में तस्वीर नहीं होती
हर किसी की एक जैसी तकदीर नहीं होती
बहुत खुश नसीब हैं वो जिनके हाथों में
मिलने के बाद बिछड़ने की लकीर नहीं होती

ऊपर की इस line को पढ़ कर पता चल गया होगा की किसी को औलाद नहीं मिलाता तो वह सारी उम्र एक खाली पन में जीता है |

दुनिया की सारी किताबों में ढूंढा जाए तो कही नहीं देखने और पढ़ने को मिलेगा की एक माँ ने अपने बच्चे को किसी खेत में पैदा कर छोड़ दिया है | आख़िर ऐसा क्यों हुआ क्या उस माँ की कोई मज़बूरी रही होगी या उसके घरवालों ने जोर – जबरदस्ती की होगी  |

क्या वह बच्चा जिसे छोड़ दिया गया है, क्या वह किसी प्रेम की लत में मगरूर कीसी दो जिस्मों का नतीजा है | क्या प्रेम इस कदर किसी बच्चे की बचपन छिनने को कहते है | अगर ऐसा है तो प्रेम बर्बादी के सिवा कुछ नहीं देता | यह किसी बच्चे के सर से माँ – बाप का छाया छीन ले और उस बच्चे को यकीम कर दे, तो ऐसी प्रेम को सही नहीं बल्कि नासमझ और बर्बादी की निसानी माना जाना चाहिए |

लेकिन इस बच्चे की क्या गलती थी की इसे जन्म देने के बाद इसे छोड़ दिया गया हो | इस बच्चे ने ऐसा नहीं माँगा था की कोई उसे जन्म दे कर मरने के लिए छोड़ दे |

एक वक्त आएगा की जब इसी बच्चे के लिए वह रोयेंगे लेकिन यह बच्चा उन्हें नहीं मिलेगा | माँ शब्द दुनिया में अनमोल है लेकिन इस घटना ने उस शब्द के उपर उंगली उठा दिया है की माँ ऐसी होती है | क्या माँ सच – मुच  भगवन के रूप होती है या यह सब कहने की बाते है |

जहाँ तक मेरा मानना है की माँ भगवन का रूप नहीं होती है | क्योंकि, माँ भगवन ही होती है |

लेकिन, यह कहना भी गलत नहीं होगा की कुछ माँ भगावन नहीं होती है | जो डायन होती है | इन पर यह शब्द खूब शूट होता है | ऐसी माएं  जो अपने बच्चे को मारने को सोचती है और उन्हें पैदा कर छोड़ देती है |

ऐसी माँ को कभी माँ का दर्जा कोई नहीं देना चाहेगा | इन्हें आख़िर क्यों दर्जा दिया जाए इने तो मौत के अलावा कोई और सजा देना ही नहीं चाहिए | जो माँ एक मासूम बच्चे को छोड़ दे उसे माँ कहाँ भी शर्म की बात है | उन्हें माँ कहना माँ शब्द की बैजती है | इन जैसी औरतों को तो माँ शब्द से ही दूर रखना चाहिए |



Chapter:- 3

( Women Give Birth And Left Her Child In English Story )

तीसरी नजर

Q1 –  क्या इस बात का पता लगाया जा सकता है की उस बच्चे के माँ बाप असल में कौन है ?

Ans – हाँ लगया जय सकता है

Q2 – लेकिन कैसे ?

Ans – जिस जगा वह बच्चा मिला है उस जगह के आस पास 3 किलो मीटर के दायरे में सभी 15 साल से उपर और  30   साल तक के सभी के dna test किया जाए तो पता चल सकता है |

Q3 – इतने लोगो का खून test करना होगा ?

Ans – DNA test खून से भी किया जा सकता है और शरीर के बालों से भी किया जा सकता है |

Q4 – उस बच्चे के माँ बाप मिल जाने पर क्या करना चहिये ?

Ans – उनको कानून के हवाले कर देना चाहिए |

कहानी का नैतिक ( moral of story ).

बुलंदियों का बड़े से बड़ा निशान छुआ,
उठाया गोद में माँ ने तब आसमान छुआ!



माँ हमेशा ऊपर होती है ,ये तो आप जान ही गये होंगे | लेकिन कुछ जगहों पर नहीं होती है इसमें कुछ गलत लोगो की वजह से होता है | लेकिन माँ जैसा खुबसुरत शब्द दुनिया में और कहीं नहीं है |

इस कहानी में आप ने उस माँ के बारे में जाना होगा जो अपने बच्चे को अपने से दूर रखती है | लेकिन दोस्तों हर माँ ऐसा नहीं होती है क्योंकि मैंने भी माँ का ममता देखा है मेरी माँ मुझ पर जान छिड़कती है | मुझे यह भी यकीं है की आप की माँ भी आप पर जान छिड़कती होगी |

दोस्तों इस सच्ची कहानी पढ़ने के बाद आप को क्या लगता है Comment में जरूर बताएं  |

इस सच्ची कहानी को अपने दोस्तों को Share करें  और उन्हें भी यह सच जानने का मौका दे

इस कहानी के बारे में Feedback जरूर करें …….

लेखक:- रंजन कुमार 


Like it? Share with your friends!

What's Your Reaction?

Confused Confused
2
Confused
Sad Sad
2
Sad
FUN FUN
0
FUN
hate hate
2
hate
win win
0
win
SEXY SEXY
0
SEXY
geeky geeky
0
geeky
love love
0
love
lol lol
0
lol
omg omg
2
omg
edk shayari

Hello , This is Shayari sharing website .Where you will find good stories and good poetry and different types of shayari and image and you can read more beautiful content . you can easily share your friends.

0 Comments